Technical SEO क्या है और क्यों जरुरी है | Technical SEO In Hindi 2023

Technical SEO क्या है और क्यों जरुरी है : हम लोगो को SEO क्या है और यह हमारे ब्लॉगिंग और वेबसाइट के लिए कितना जरूरी है यह तो हम सभी को मालूम ही है। SEO हमारे वेबसाइट और ब्लॉग साइट को गूगल पर रैंक होने पर सहायता प्रदान करता है लेकिन क्या आपने कभी अपने ब्लॉग पोस्ट के SEO करते हुए Technical SEO के बारे में ध्यान दिया है शायद नहीं,

अगर आप यह जानना चाहते हैं Technical SEO क्या है? आपके लिए Technical SEO क्यों जरूरी है? और वो कौन कौन से फैक्टर होते है जिस पर Technical SEO निर्भर करता है? अगर आप इन सब विषयो के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो आपको यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना चाहिए क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Technical SEO से जुड़ी हुई जानकारी के बारे में विस्तार से बताने का प्रयास करेंगे।

Technical SEO क्या है और क्यों जरुरी है

Technical SEO क्या है : Technical SEO, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन का वो प्रकार या प्रक्रिया है, जिसके द्वारा आप अपनी वेबसाइट का SEO करते हुए टेक्निकल और इंटरनल फैक्टर पर ध्यान देते है जिसके बाद आपकी वेबसाइट में आपके द्वारा पब्लिश की गई पोस्ट ठीक ढंग से इंडेक्स होने लगते है। साथ ही साथ आपकी वेबसाइट की रैंक भी ऊपर आने लगती है।

अगर आपके वेबसाइट का Technical SEO ठीक ढंग से होता है तो गूगल आपके पोस्ट को ठीक ढंग से जान पाता है और उसके बाद उस पोस्ट के रैंक होने के चांसेस भी काफी हद तक बढ़ जाते है। उदहारण के तौर पर मान लीजिए कि आपकी वेबसाइट का एक Site Map है, Site Map एक टेक्निकल शब्द है आम भाषा में बात करे तो Site Map किसी भी वेबसाइट का वो पेज होता है जहा पर सभी जरूरी पन्ने पर जाने का रास्ता बताया हुआ होता है, जिससे गूगल को आपके वेबसाइट के अंदर उस वेबपेज में जाने में किसी भी तरह की कोई बाधा नहीं होती है।

यह गूगल को आपके वेबसाइट की रैंक को ऊपर करने में काफी सहायक साबित होता है। इसी तरह से और भी कई फैक्टर होते है जो Technical SEO के अंदर ही आते है और वो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को बेहतर करने में भी सहायक सिद्ध होते है। अगर आप यह जानना चाहते है कि SEO क्यों जरूरी है तो उसके बारे में हमने आर्टिकल के निचले सेक्शन में विस्तार से चर्चा की हुई है।

Technical SEO क्यों जरूरी है

अगर आप किसी भी वेबसाइट को रैंक करवाना चाहते है तो केवल SEO करके काम नही चलने वाला है आपकों अपने वेबसाइट के ऑन पेज और ऑफ पेज का SEO करने के अलावा technical SEO करना भी बेहद जरूरी है। अगर आपका पेज का Technical SEO बेहतर है तो आपके वेबसाइट की रैंकिंग खुद ही अच्छी होने लग जाती है।

अब आप सोचते होंगे कि Technical SEO क्या है यह तो हमे मालूम चल चुका है, क्यों जरूरी है यह भी मालूम चल गया है, लेकिन क्या आपको यह मालूम है कि Technical SEO किन किन फैक्टर पर निर्भर करता है? अगर आप भी इन सब चीजों के बारे में विस्तार से जानना चाहती है तो आपको यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना चाहिए तो चलिए अब बिना किसी देरी के शुरू करते हैं।

Technical SEO Checklist

1. SSL का प्रयोग करे

2. वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाए

3. वेबसाइट लोडिंग टाइम कम करे

4. कैनोनिकल इश्यू

5. इंडेक्स देखे

6. XML Site Map बनाए

7. AMP एक्टिव करे

8. वेबसाइट को सर्च कंसोल में रिजिस्टर करे

9. Robot.txt File सबमिट करे

10. Broken Link ठीक करे

11. Url स्ट्रक्चर

12. Schema Markup enable करे

Technical SEO के Factors

अगर आप अपनी पोस्ट का Technical SEO करना चाहते है तो आपको टेक्निकल SEO के फैक्टर्स के बारे में विस्तार से जानना चाहिए तो चलिए शुरू करते हैं।

1. SSL का प्रयोग करे

अगर आपको अपने वेबसाइट पर लिखी हुई वेब पोस्ट को रैंक करवाना है तो आपको इस बात पर ध्यान देना होगा कि आपकी वेबसाइट का SSL एक्टिव है या नही। अगर आपकी वेबसाइट का SSL एक्टिव होता है इससे यह माना जाता है कि आपकी वेबसाइट सिक्योर है और जब भी कोई भी व्यक्ति आपकी वेबसाइट खोलता होता है तो आपके डोमेन नाम से पहले सर्च बारे में https का इस्तेमाल होता है

और साथ ही साथ लॉक का निशान भी बना होता है इससे गूगल को यह मालूम चलता है कि आपकी वेबसाइट सिक्योर है। वही अगर आपकी वेबसाइट SSL एक्टिव नही होती है तो आपके वेबसाइट के डोमेन नाम के आगे सिक्योर का आइकन नही बना होता है जिसके बाद चाहे आप अपनी वेबसाइट पर कितना भी अच्छा काम कर ले आपकी वेबसाइट के रैंक होने के चांसेस काफी कम हो जाते है।

2. वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाए

यह तो हम सब को ही मालूम है कि लोग हर प्रकार की न्यूज, आर्टिकल, ब्लॉग पोस्ट सब कुछ मोबाइल के द्वारा ही पढ़ते है क्योंकि यह कैरी करने में आसान होता है। इसलिए अगर आप अपने वेबसाइट को रैंक करवाना चाहते है और Technical SEO करना चाहते है तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपके वेबसाइट को आपको मोबाइल फ्रेंडली रखना होगा जिससे आपकी वेबसाइट की पोस्ट मोबाइल फोन्स में अच्छे से पढ़ी जा सके है।

ऐसा ना हो कि आपके वेब पोस्ट आप डेस्कटॉप मोड पर लिख रहे है तो आप उसे ऐसे ही पब्लिश कर दे। आज से 5 से 6 साल पहले आपको पोस्ट डेस्कटॉप फ्रेंडली लिखने होते थे क्योंकि उस गूगल भी आपकी पोस्ट Desktop crawler के द्वारा पढ़ता था आज गूगल भी आपकी पोस्ट मोबाइल फोन के लेंस से देखता है। इसीलिए हम आपको यही सुझाव देंगे कि आपको अपनी वेब पोस्ट मोबाइल फ्रेंडली लिखनी चाहिए।

3. वेबसाइट लोडिंग टाइम कम करे

अगर आपको गूगल पर अपने वेबपेज के किसी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करवाना है तो आपको अपनी वेबसाइट के लोडिंग टाइम को ध्यान भी रखना होगा। क्योंकि अगर कोई भी यूजर आपके पोस्ट को पढ़ने के लिए उत्सुक हुआ और आपके वेबसाइट का लोडिंग टाइम काफी ज्यादा है तो ऐसे में वो यूजर आपके पोस्ट को बिना पढ़े ही कही होने जाने का प्रयास करेगा।

इसलिए अगर आपको अपने पोस्ट का Technical SEO ठीक ढंग से पूरा करना है तो आपको अपने वेबसाइट का लोडिंग टाइम कम करना होगा। अपने वेबसाइट के लोडिंग टाइम को कम करने के लिए आपको वर्ड प्रेस पर WP Cache जैसे प्लग इन को optimize करना होगा। इन्ही वेबसाइट का प्लग इन को एक्टिव करके आप अपनी वेबसाइट का लोडिंग टाइम कम कर सकते हैं।

4. कैनोनिकल इश्यू

कभी कभी ऐसा होता है कि आप अपनी वेबसाइट पर कोई पोस्ट लिखते है और उसका यूआरएल बदल देते है तो गूगल उस चीज को तब अपडेट नही कर पाते है जिसके चलते आपको पोस्ट पुराने यूआरएल से ही पोस्ट हो जाती है। लेकिन उसके बाद कुछ समय बाद अपने जिस यूआरएल से पोस्ट डाली थी उससे भी पोस्ट हो जाती है ऐसे में होता यह है कि एक ही वेबसाइट पर दो अलग अलग यूआरएल की सेम पोस्ट चल रही है

ऐसे में जब गूगल एनालाइज करता है कि आपकी पोस्ट किसी और पोस्ट से कॉपी है तो उस समय आपको गूगल को अपडेट करना होता है कि वो जो दोनो पोस्ट है एक ही वेबसाइट पर केवल यूआरएल अलग है ऐसे में गूगल दुबारा से अपने डेटाबेस में एंट्री करता है और आपको इश्यू ठीक हो जाती है। अगर आपको भी कभी कोई समस्या आए है तो अगर आपकी वेबसाइट वर्ड प्रेस पर है तो आप Yoast SEO का प्लग इन एक्टिव करके अपना इश्यू सॉल्व कर सकते है।

5. इंडेक्स देखे

अगर आपकी कोई भी वेबसाइट है और वहा पर आपको वेबसाइट की इंडेक्स की प्रक्रिया ही पूरी नहीं हुई हैं तो आपको वेबसाइट कभी रैंक ही नही हो सकती है। इसलिए अगर आपको अपनी वेबसाइट की रैंकिंग को प्राप्त करना है तो पोस्ट का इंडेक्स होने बेहद जरूरी है।

अगर आपको मालूम नही है कि आपकी पोस्ट इंडेक्स हुई है या नही है तो आप गूगल सर्च कंसोल का इस्तेमाल करके चेक कर सकते हैं। उसके लिए आपको आपको अपनी वेबसाइट का यूआरएल कॉपी करके वहा डालना होगा जिसके बाद रिजल्ट आपके सामने होगा।अगर आपकी पोस्ट इंडेक्स नही हुई है तो आप रिक्वेस्ट इंडेक्स के विकल्प पर जाकर इंडेक्स के लिए वापिस से आवेदन कर सकते है।

6. XML Site Map बनाए

Site Map आपके लिए क्यों जरूरी है उसके बारे में तो हमने आर्टिकल के ऊपरी सेक्शन में ही चजर्चा कर ली है। अगर आपकी अपनी एक वेबसाइट है और आप यह देखना चाहते है कि आपकी वेबसाइट का Site Map बना है या नही तो आपको सबसे पहले गूगल पर जाकर अपने वेबसाइट के डोमेन नाम के साथ स्लैश का प्रयोग करके sitemap.XML लिखना होगा अगर आपकी वेबसाइट का साइटमैप बना होगा तो आ जाएगा अन्यथा आपकी वेबसाइट का site map बना ही नही है।

अगर आप अपनी वेबसाइट का Site Map बनना चाहते है तो आपको सर्च कंसोल में जाना होगा उसके बाद आपको अपनी वेबसाइट का नाम लिख कर sitemap_index.xml को लिखना होगा जिसके बाद उसको सबमिट कर देना होगा। ऐसा करने से आपकी वेबसाइट का साइट मैप बन जाएगा और उसके बाद से जब भी आप चेक करेंगे आपको दिखने लगेगा।

7. AMP एक्टिव करे

AMP को accelerated mobile Pages कहा जाता है यह आपके वेबसाइट के स्पीड को मोबाइल में काफी हद तक बढ़ा देता है साथ ही साथ यह आपके द्वारा लिखे हुए पोस्ट को मोबाइल फ्रेंल्डी भी बनाने में सहायक होता है। अगर आपको AMP को अपने वेबसाइट पर एनेबल करना है और आपकी वेबसाइट वर्डप्रेस है तो आपको AMP Plug In का विकल्प दिखाई दे जाता है जिससे आप अपने वेबसाइट पर AMP Plug In को इंस्टाल कर सकते है।

8. वेबसाइट को सर्च कंसोल में रिजिस्टर करे

अगर आप अपनें वेबसाइट पर Technical SEO ठीक ढंग से करना चाहते है तो आपको अपने वेबसाइट को सर्च कंसोल में सबमिट करना चाहिए क्योंकि जब आप ऐसा करते हैं तो आपकी वेबसाइट ठीक ढंग से पोस्ट को इंडेक्स करने लगती है और अगर आपके वेबसाइट पर किसी भी प्रकार का कोई error आता है तो आपको सर्च कंसोल में दिखने लगता है।

9. Robot.txt File सबमिट करे

Robot.txt File वो फाइल होती है जो गूगल को यह बताती है कि आपके वेबसाइट पर से किन वेबपेज को crawl करना है और किनको नहीं करना है। अगर आप

Robot.txt File को सबमिट नही करते है तो ऐसे में गूगल आपके वेबसाइट के सभी वेबपेज को Crawl करने लगता है जिससे आपके वेबसाइट का प्राइवेसी इश्यू बढ़ जाता है। इसलिए हम आपको यही सुझाव देंगे कि आप अपनी वेबसाइट का एक Robot.txt File सबमिट कर दे जिससे गूगल को मालूम चल जाए कि आपकी वेबसाइट का कौन सा वेबपेज crawl करना है और कौनसा नही करना है।

10. Broken Link ठीक करे

जब आप अपनी वेबसाइट को कोई वेबपेज को डिलीट करते है तो कभी कभी ऐसा होता है कि वो आपके वेबसाइट से तो डिलीट हो जाता है लेकिन गूगल की डेटाबेस में वो सेव ही रहता है इससे होता यह है कि अगर कोई व्यक्ति आपके वेबसाइट के उस वेबपेज के url पर चला जाए जो अपने अपनी वेबसाइट से डिलीट किया है तो यूजर को error 404 का नोटिफिकेशन दिखाई देता।

इससे होता यह है कि गूगल के सामने आपके वेबसाइट का नेगेटिव इंपैक्ट होता है इसलिए हम आपको यह सुझाव देंगे कि आप अपनी वेबसाइट के ऐसे url को अन्य किसी एक्टिव url के साथ डायरेक्ट कर ले इससे होता यह है कि आपके वेबसाइट का नेगेटिव इंपैक्ट नही पड़ता है जो technical SEO के नजरिए से काफी जरूरी चीज है।

11. Url स्ट्रक्चर

अपनी वेबसाइट का Technical SEO बेहतर करने के लिए आप अपने वेबसाइट के url ko जितना छोटा हो सके उतना छोटा करे, जिससे गूगल को भी आपकी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज्ड करने में सरलता होती है साथ ही साथ यूजर के लिए काफी आसान होता है आपकी वेबसाइट के यूआरएल को किसी और को शेयर करना।

12. Schema Markup enable करे

अगर आप अपनी वेबसाइट का Technical SEO बेहतरीन ढंग से पूरा करना चाहते है तो आपको अपने वेबसाइट पर Schema Markup को एनेबल करना चाहिए। Schema Markup enable करने के लिए आपको वर्डप्रेस के होम पेज पर ही Schema Markup Plugin प्राप्त हो जाएगा जिससे आप इसे अपने वेबसाइट पर एक्टिव करने में सक्षम हो जाएंगे।

निष्कर्ष

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको Technical SEO क्या है, Technical SEO आपके लिए क्यों जरूरी है? Technical SEO किन किन फैक्टर पर निर्भर करता है और आप उसको कैसे ठीक कर सकते है, इन सब चीजों के बारे में हमने आपको विस्तार से बताने का प्रयास किया है। उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर ऐसा है तो आप हमसे नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में सवाल पूछ सकते हैं।

इन्हें भी पड़े :

Leave a Comment

Cloudways Hosting के बारे में सम्पूर्ण जानकारी (Honest Review)2023 Google Eat Algorithm kya hai Niche क्या है: एक सही Niche का चुनाव कैसे करें Schema Markup क्या है- इसका SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है Google Web Stories को Google Discover में कैसे लाये Backlink क्या है Backlink के प्रकार एवं फायदे क्या है जानिए Event Blogging क्या है, Event Blogging करके पैसे कैसे कमाए Google Web Stories मे Traffic कैसे बढ़ाये Bounce Rate कम करने के 10 Tips कौनसे है Google Helpful Content Update क्या है
Cloudways Hosting के बारे में सम्पूर्ण जानकारी (Honest Review)2023 Google Eat Algorithm kya hai Niche क्या है: एक सही Niche का चुनाव कैसे करें Schema Markup क्या है- इसका SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है Google Web Stories को Google Discover में कैसे लाये Backlink क्या है Backlink के प्रकार एवं फायदे क्या है जानिए Event Blogging क्या है, Event Blogging करके पैसे कैसे कमाए Google Web Stories मे Traffic कैसे बढ़ाये Bounce Rate कम करने के 10 Tips कौनसे है Google Helpful Content Update क्या है