Niche क्या है- एक सही Niche का चुनाव कैसे करें | Niche Meaning in Hindi

Niche क्या है- एक सही Niche का चुनाव कैसे करें : अगर आप भी ब्लॉगिंग करते है तो आपको तो मालूम ही है कि हम लोगो के काम में हमारा ब्लॉगिंग Niche कितना अहम हिस्सा होता है। Niche ही है जिसकी वजह से हम अपने साइट पर से कमाई कर पाने में सक्षम हो पाते है।

अगर आप भी ब्लॉगिंग करते है लेकिन आपको अभी तक ब्लॉगिंग Niche के बारे में विस्तार से जानकारी नहीं है तो आपको यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना चाहिए क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Niche क्या है, Niche कितने प्रकार के होते है, ब्लॉगिंग में niche क्यों जरूरी है सब विषयों के बारे में प्रकाश डालने का प्रयास किया है तो चलिए अब बिना किसी देरी के शुरू करते हैं।

Niche क्या है

Niche एक ब्लॉगिंग से जुड़ा हुआ शब्द है जिसको आम भाषा में बात करे तो इसको कैटेगरी भी कहा जाता है। Niche का मतलब होता है कि आपकी जो ब्लॉगिंग साइट है वो किस कैटेगरी में बनी हुई है मतलब कि आपकी ब्लॉगिंग साइट पर जो पोस्ट है वो किस कैटेगरी से तालुक रखते हैं उसे ही ब्लॉगिंग की दुनिया में Niche कहते है।

एक अच्छे ब्लॉगिंग साइट को चलाने के लिए एक अच्छा Niche होना बेहद जरूरी है। जब आपके ब्लॉगिंग साइट का Niche आम भाषा में बात कर तो कैटेगरी अच्छी होती है तो लोग आपके साइट पर प्रदान की जाने वाली जानकारी को पढ़ते है जिसे आपके साइट पर ट्रैफिक जमा होता है और एक ब्लॉगर को उस साइट पर कमाई से भी पहले यह जानना जरूरी होता है कि आपके साइट पर ट्रैफिक कितना आ रहा है? तो आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यही बताने का प्रयास करेंगे कि यह Niche आपके साइट के लिए किस प्रकार से फायेदमंद है और कैसे आप अपने ब्लॉग साइट के लिए एक अच्छा Niche चुन सकते हो।

Niche के प्रकार

सामान्य तौर पर बात करे तो Niche वैसे तो कई प्रकार के होते है, जिसमे से कुछ के बारे में हमने नीचे विस्तार से बताने का प्रयास किया है।

Demand के आधार पर

  • Trending Niche

यह ब्लॉगिंग की वो कैटेगरी होती है जो पूरे वर्ष इतना ट्रैफिक प्रदान नही करती है लेकिन वर्ष के कुछ महीने या कुछ दिन छप्पर फाड़कर ट्रैफिक आपके ब्लॉग साइट पर जमा करती है। उदहारण के तौर पर आइपीएल के द्वारा जो कोई भी व्यक्ति आईपीएल से जुड़े हुए ब्लॉग साइट बनाता है उनके ब्लॉग पोस्ट पर अलग ही लेबल का ट्रैफिक होता है वही साल के और समय में उस ब्लॉग साइट पर इतना ट्रैफिक जमा कर पाना मुश्किल हो जाता है।

  • General Niche

General Niche मुख्य तौर पर वो ब्लॉगिंग की कैटेगरी होती है जिनका ट्रैफिक किसी महीने या किसी समय पर निर्भर नहीं करता है। अगर आप रोजाना या निरंतर आपके साइट पर काम करते है और आपके साइट का कंटेंट अच्छा होता है तो आपके साइट पर ट्रैफिक जमा होने का कारण यह होता है न कि यह मौसमी ट्रैफिक आपके साइट पर जमा होता हैं।

उदहारण के तौर पर जब आप कोई सरकारी योजनाओं या हेल्थ एंड केयर से जुड़ा हुआ ब्लॉग साइट बनाते है इन कैटेगरी का कोई मौसम नही होता है अगर आप अच्छा कंटेंट लिखते है तो आपके साइट का ट्रैफिक बढ़ता है अगर आपके ब्लॉग पोस्ट बस लिखने के दृष्टि से लिखा हुआ है तो आपके साइट पर ट्रैफिक जमा नही होता है इसलिए ऐसे साइट का ट्रैफिक अपने वेब साइट के कंटेंट और काम पर निर्भर करता है ना कि किसी और फैक्टर पर।

Content के आधार पर

  • Micro Niche

इस प्रकार के Niche में आपके पास अपने कंटेंट को लिखने के इतने विकल्प मौजूद नहीं होते है। आप कुछ 100 कंटेंट के बाद इस प्रकार के कैटेगरी के लिए और लिख नही सकते हैं। इस प्रकार के Niche को Micro Niche कहते है। इस तरह के Niche में काम करना थोड़ा कठिन होता है और आपको इसका लाभ प्राप्त होता है क्योंकि गूगल पर इन सब कैटेगरी में इतना जानकारी नहीं है तो आपका पोस्ट कुछ ही समय में रैंक होने लगता है।

  • Multi Niche

इस प्रकार के Niche में आपके पास अपने ब्लॉग साइट के ब्लॉग पोस्ट के लिए हजारों से लाखो विकल्प होते है कंटेंट को लिखने के। मुख्य तौर पर 95 प्रतिशत ब्लॉगर अपना काम इन ब्लॉग साइट से ही करते है।

Interest के आधार पर

  • Reader Interest Niche (जो लोग पढ़ना चाहते है)

जब आप इंटरेस्ट के आधार पर ब्लॉग niche की बात करते है तो मुख्य तौर पर लोग किस बात पर ध्यान देते है कि लोगो को आज कल किस कैटेगरी या टॉपिक पर बात करने में अच्छा लग रहा हैं। जब आप इन सब बातो का ध्यान रख कर अपने ब्लॉग साइट के Niche चुनते है तो इसी को कहते है reader interest Niche.

  • Blogger Interest Niche ( जो हम आपको पढ़वाना चाहते है)

जब आप अपनी ब्लॉगिंग साइट पर अपने इंटरेस्ट के आधार पर कंटेंट को डालते है तो आपके साइट के Niche को Blogger Interest Niche कहते है। जब आप उन विषय पर अपने ब्लॉग पोस्ट को लिखते है जिनके बारे में आप इंटरेस्टेड है तो यह आपके लिए अच्छा और रिस्की दोनो ही साबित हो सकता है।

अच्छा जब हो सकता है अगर आपका इंटरेस्ट किसी उस विषय में जहा पर आज के समय के रीडर्स का भी है तो यह आपके लिए सोने की मुर्गी देने वाली बात भी हो सकती है। वही अगर आपका इंटरेस्ट किसी ऐसे विषय पर है जिसपर लोगो का कोई खास इंटरेस्ट नहीं है तो ऐसे में आप केवल अपने इंटरेस्ट के लिए पोस्ट लिखते है और ऐसा होने पर हो सकता है आपके ब्लॉग साइट पर ट्रैफिक भी जमा न हो पाए।

Blogging के लिए Niche क्यों जरूरी है

ब्लॉगिंग करने के लिए एक बेहतर Niche का होना बेहद जरूरी है क्योंकि अगर आप एक बेहतर Niche को चुनते है तो आपके साइट पर ट्रैफिक आता है और जब आपके साइट पर गूगल एड सेंस अप्रूव हो जाता है तो उसके बाद जो चीज सबसे ज्यादा महायने रखती है वो यह ट्रैफिक ही होता है।

और जब हम हिंदी ब्लॉगिंग की बात करते है तो उनका सीपीसी कितना होता है यह तो हमे जानकारी है ही इसलिए आपके ब्लॉग साइट के ब्लॉग पोस्ट पर अगर अच्छा ट्रैफिक आता है तो उसका एक मुख्य वजह आपने Niche का चुनाव भी हो सकता हैं। इसी वजह से हम आपको यह बता रहे है कि अगर आपको ब्लॉगिंग की दुनिया में सफल होना है तो आपको एक अच्छा ब्लॉगिंग Niche चुनना भी बेहद जरूरी है।

Best Niche के चुनाव कैसे करे? step by step process

आप अपने ब्लॉग साइट के लिए किस प्रकार से एक अच्छे और बेस्ट Niche का चुनाव कर सकते है तो उसके लिए आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना चाहिए। आर्टिकल के इस सेक्शन में हमने उन बिंदुओं पर ही चर्चा करने की कोशिश की है, अगर आप भी इस सब चीजों के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो आपको आर्टिकल का यह सेक्शन विस्तार से पढ़ना चाहिए।

  • Knowledge और Interest के जरिए

जब आप अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए Niche चुनते है तो आपको कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए उनमें से कुछ चीजे है यह है कि आपको किस विषय के बारे अच्छी जानकारी प्राप्त है और आपको किस विषय के बारे जानने में और उत्सुकता है। अगर आपको किसी ऐसे विषय के बारे में अधिक जानकारी है जिसके बारे में लोग भी जानने के लिए उत्सुक है तो यह आपने लिए एक अच्छी खबर हो सकती है। जब आप लोगो को वो कंटेंट देंगे जिसमे के बारे में लोग पहले से ही जानने के लिए बेताब है तो आपके साइट को कुछ ही महीने के अंदर फर्श से अर्श तक पहुंचा सकता है।

  • Keyword research के जरिए

जब भी आप अपने ब्लॉगिंग के लिए niche का चुनाव करते है तो आपको कुछ प्रकार के रिसर्च करने की बेहद जरूरत होती है जिसमे से कुछ है आपको niche को फाइनल करने से पहले यह देखना बेहद जरूरी है कि उन Niche के कीवर्ड की सीपीसी कितनी है अगर जो आपने Niche निश्चित किया है उसका कीवर्ड रिसर्च करने के रिजल्ट भी अच्छे है तो आपको आगे बढ़ना चाहिए अन्यथा किसी और Niche के बारे में सोचना चाहिए।

  • Monthly Traffic को analyse करके

जब भी आप अपने ब्लॉग साइट के लिए Niche चुनते है तो आपको अपने niche को फिक्स करने से पहले इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आपने जो नीचे चुनने का फैसला किया है उस niche के साइट के अंदर महीने में कितना ट्रैफिक जमा हो जाता हैं। जब आप यह चीज एनालाइज करते है तो आपके आपके पास एक साफ तस्वीर आ जाती है कि आपको अपने niche के साथ आगे बढ़ना चाहिए या नहीं।

अगर आप इन सब चीजों को एनालाइज करने के बाद अपने ब्लॉग साइट के Niche को सिलेक्ट करते है तो यह अपने लिए सहायक सिद्ध हो सकता है।

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Niche और उससे जुड़े विषयो के बारे में विस्तार से बताने का प्रयास किया है। अगर आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई सवाल आता है तो आप हमसे नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। वही अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आता है तो आप इसे अपने दोस्तो के साथ भी शेयर कर सकते है।

इन्हें भी पड़े |

Leave a Comment

Niche क्या है: एक सही Niche का चुनाव कैसे करें Schema Markup क्या है- इसका SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है Google Web Stories को Google Discover में कैसे लाये Backlink क्या है Backlink के प्रकार एवं फायदे क्या है जानिए Event Blogging क्या है, Event Blogging करके पैसे कैसे कमाए Google Web Stories मे Traffic कैसे बढ़ाये Bounce Rate कम करने के 10 Tips कौनसे है भारत की Top 5 Best वेब होस्टिंग 2023 ब्लॉग्गिंग कैसे सुरु करें {12 Easy Steps} 2023
Niche क्या है: एक सही Niche का चुनाव कैसे करें Schema Markup क्या है- इसका SEO पर क्या प्रभाव पड़ता है Google Web Stories को Google Discover में कैसे लाये Backlink क्या है Backlink के प्रकार एवं फायदे क्या है जानिए Event Blogging क्या है, Event Blogging करके पैसे कैसे कमाए Google Web Stories मे Traffic कैसे बढ़ाये Bounce Rate कम करने के 10 Tips कौनसे है भारत की Top 5 Best वेब होस्टिंग 2023 ब्लॉग्गिंग कैसे सुरु करें {12 Easy Steps} 2023